December 2, 2021

सांस्कृतिक पर्व

भाई दूज – क्यों मनाया जाता है भाई दूज, भाई दूज का महत्व

हमारे देश में भाई दूज के दिन बहनें अपने भाई को प्रेमपूर्वक तिलक कराती है। उन्हें प्यार से भोजन करवाया जाता है। इस दिन सभी...

क्यों की जाती है गोवर्धन पूजा ? क्या है गोवर्धन पूजा का धार्मिक महत्व

दीपावली (Deepawali) के अगले दिन गोवेर्धन (Govadhan) की पूजा की जाती है. कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की प्रतिपाद तिथि यानी कि दीपावली के एक...

आज दिवाली के दिन क्या करना चाहिए और क्या नहीं, जान लें जरूरी बातें

इस दिन भगवान गणेश और मां लक्ष्मी की विधि-विधान से पूजा की जाती है। दिवाली के दिन मां लक्ष्मी की कृपा पाने के लिए लोग...

दीपावली पर्व – जाने क्यों है दीपावली गढ़वाल में विशेष

दीपावली (संस्कृत : दीपावलिः = दीप + अवलिः = दीपकों की पंक्ति, या पंक्ति में रखे हुए दीपक) शरद ऋतु (उत्तरी गोलार्द्ध) में हर वर्ष...

रोचक तथ्य

केदारताल - ये है उत्तराखंड की सबसे खूबसूरत झील, ये है यहाँ की कहानी

केदारताल – ये है उत्तराखंड की सबसे खूबसूरत झील, ये है यहाँ की कहानी

केदार ताल को उत्तराखंड की सबसे खूबसूरत और रहस्यमयी झील के रूप में जाना जाता है। यह झील उत्तराखंड के उत्तरकाशी जिले में समुद्रतल से...

ऐसा मंदिर जिसके ऊपर से पक्षी भी नहीं उड़ते और हवा की विपरीत दिशा में लहराता है झंडा

ऐसा मंदिर जिसके ऊपर से पक्षी भी नहीं उड़ते और हवा की विपरीत दिशा में लहराता है झंडा

भारत में कई प्राचीन रहस्यमय ऐसे मंदिर हैं जिनके बारे में विज्ञान भी नहीं जान पाया है. ऐसा ही एक बड़ा रहस्य जगन्नाथ मंदिर से...

वीरचंद्र सिंह गढ़वाली, जिसने दुनिया को बताया कि गढ़वालियों से बड़ा दिलेर कोई नहीं

वीरचंद्र सिंह गढ़वाली, जिसने दुनिया को बताया कि गढ़वालियों से बड़ा दिलेर कोई नहीं

23 अप्रैल 1930 का दिन था, इस दिन पेशावर में विशाल जुलूस निकाला गया था। इस जुलूस में बच्चों, बूढ़ों और महिलाओं ने बढ़ चढ़कर...

जनहित के लिए सब कर्म करने से कल्याण निश्चित है, इस लोक में भी और परलोक में भी

जनहित के लिए सब कर्म करने से कल्याण निश्चित है, इस लोक में भी और परलोक में भी

मात्र मनुष्य अपना कल्याण कर सकते हैं और सुगमता से कर सकते हैं , प्रत्येक परिस्थिति में कर सकते हैं |   परिस्थिति को मिटना...

क्यों कहा जाता है उत्तराखंड को देव भूमि, आइये जानते है

क्यों कहा जाता है उत्तराखंड को देव भूमि, आइये जानते है

उत्तराखंड जो की स्वर्ग से कम नहीं, यहाँ पर कल कल करती नदियां, झर झर गिरते झरने, नदियों का मीठा पानी, कोयल की मधुर कूक...